छन्द

1 / 53

मंगल भवन अमंगल हारी। द्रवहु सुदशरथ अजिर बिहारी इन पंक्तियों में किस छंद का प्रयोग हुआ है?

2 / 53

निम्नलिखित प्रश्न के चार विकल्पों में से उस सही विकल्प का चयन करें जो बताता है कि जहाँ छंद में सभी चरण समान होते हैं, उसे क्या कहा जाता है?

3 / 53

वर्णिक छंदों में किसका विचार होता है?

4 / 53

जय हनुमान ग्यान गुन सागर, जय कपीस तिहुँ लोक उजागर प्रस्तुत पंतियों में कौन-सा छंद है?

5 / 53

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधारि । बरनउ रघुवर विमल जस, जो दायक फल चार । प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

6 / 53

निम्न में कौन मात्रिक छंद है?

7 / 53

सुन सिय सत्य असीस हमारी। पूजहि मन कामना तुम्हारी ॥ उक्ति पंक्ति में कौन-सा छंद है?

8 / 53

किस छंद में छः चरण होते हैं?

9 / 53

चौपाई के प्रत्येक चरण में मात्राएँ होती हैं?

10 / 53

किस छंद को ‘मनहरण’ कहा जाता है?

11 / 53

वीर या आल्हा किस जाति का छंद है?

12 / 53

वह सम मात्रिक छंद जिसके प्रत्येक चरण में 24-24 मात्राएँ हों तथा प्रत्येक चरण में 11वीं एवं 13वीं मात्रा पर यति होती हो, कौन-सा छंद कहा जायेगा?

13 / 53

कुंडलियाँ छंद में कितने चरण होते हैं?

14 / 53

जिस छंद में चार चरण और प्रत्येक चरण में 16 मात्राएँ होती हैं, वह कहलाता है?

15 / 53

छंद की प्रथम चर्चा कहाँ हुई?

16 / 53

जिस छन्द के प्रथम तथा तृतीय चरण में 12-12 मात्राएँ एवं द्वितीय तथा चतुर्थ चरण में 7-7 मात्राएँ होती हैं, साथ ही सम चरणों के अन्त में जगण ( |S|) होता है, वह छंद है?

17 / 53

अवधि शिला का उर पर था गुरु भार तिल-तिल काट रही थी. दृग जल धार प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

18 / 53

सुन सिय सत्य असीम हमारी पूजहि मन कामना तुम्हारी प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

19 / 53

‘छंदशास्त्र’ के प्रणेता आचार्य माने जाते हैं?

20 / 53

‘छंदशास्त्र’ के आदि प्रणेता थे?

21 / 53

जो मात्रिक सम छंद है उसके प्रत्येक चरण में 16 मात्राएँ होती हैं उसे कहते हैं?

22 / 53

निम्न में से कौन वर्णिक छंद है?

23 / 53

लालदेह लाली लसे, अरु धरि लाल लंगूर वज्र देहदानव दलन, जय जय जय कपिसूर ॥ प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

24 / 53

गणों की संख्या कितनी होती है?

25 / 53

जिहि सुमिरत सिधि होइ, गननायक करिवर बदन करहु अनुग्रह सोइ, बुद्धि रासि सुभ गुन सदन ।” उपर्युक्त पंक्तियों में छंद है?

26 / 53

दोहे और रोले को क्रम से मिलाने पर कौन-सा छंद बनता है?

27 / 53

एक छंद में कितने चरण होते हैं?

28 / 53

अवधी का निजी छंद है?

29 / 53

कुण्डलिया छंद किन दो छंदों से मिलकर बनता है?

30 / 53

कितने वर्णों को मिलाकर एक गण बनता है?

31 / 53

“मूक होई वाचाल पंगु चढ्इ गिरिवर गहन । जसु कृपा सो दयाल, द्रवहु सकल कलिमल दहन ।” प्रस्तुत पंक्तियों में कौन- सा छंद है?

32 / 53

मात्रिक विषम संयुक्त छंद है?

33 / 53

बिना विचार जब काम होगा, कभी न अच्छा परिणाम होगा। प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

34 / 53

कोई भी छंद किससे विभक्त रहता है?

35 / 53

‘रामचरितमानस’ नामक महाकाव्य की रचना-शैली है?

36 / 53

‘दोहा’ के प्रथम चरण में कितनी मात्राएँ होती हैं?

37 / 53

जिस छंद को कवि अपनी इच्छानुसार घटा-बढ़ा कर रचना करता है, उसे कहते हैं?

38 / 53

निम्न में से कौन वर्णिक छंद है?

39 / 53

दामिनि दमक रह न घन मांही। खल कै प्रीति जथा थिर नांही। इन पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

40 / 53

जो जग हित पर प्राण निछावर है कर पाता। जिसका तन है किसी लोक हित में लग जाता। ये है?

41 / 53

दोहे और रोले को क्रम से मिलाने पर कौन-सा छंद बनता है?

42 / 53

‘निज भाषा उन्नत अहै, सब उन्नति कै मूल । बिन निज भाषा ज्ञान कै मिटै न हिय के सूल उक्त पंक्ति में कौन-सा छंद है?

43 / 53

शिल्पगत आधार पर दोहे से उल्टा छंद है?

44 / 53

निम्नलिखित में से कौन-सा छंद दोहा का विपरीत छंद है?

45 / 53

अनुष्टुप है?

46 / 53

मात्रा की दृष्टि से दोहा के ठीक विपरीत होता है?

47 / 53

छंद कितने प्रकार के होते हैं?

48 / 53

अर्द्धसम मात्रिक जाति का छंद है?

49 / 53

दोहा के प्रथम और तृतीय चरण में कितनी मात्राएँ होती हैं?

50 / 53

छंद को पढ़ते समय ठहराव की स्थिति को कहते हैं?

51 / 53

छप्पय में होते हैं, प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है?

52 / 53

घनाक्षरी छंद है?

53 / 53

चौपाई के प्रत्येक चरण में कितनी मात्राएँ होती हैं?

Your score is

The average score is 0%

0%