रस 1

1 / 50

आचार्य देव ने किस भाव को 34वां संचारी भाव कहा है?

2 / 50

स्वान आंगुरिन काटि काटि के खात विचारत में रस हैं?

3 / 50

धनंजय ने किस रस को हर्षोत्साह माना है?

4 / 50

मेरे तो गिरिधर गोपाल दूसरो न कोई । जाके सिर मोर मुकुट मेरो पति सोई। इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

5 / 50

कवि बिहारी मुख्यतः किस रस के कवि हैं?

6 / 50

गुस्से से मुँह का लाल होना’ क्या है?

7 / 50

सर्वश्रेष्ठ रस किसे माना जाता है?

8 / 50

“हिमाद्रि तुंग श्रृंग से प्रबुद्ध शुद्ध भारती स्वयंप्रभा समुज्ज्वला, स्वतंत्रता पुकारती उक्त पंक्ति में कौन-सा रस है?

9 / 50

स्थायी भावों की संख्या मानी गई है?

10 / 50

ज्यों-ज्यों लगती है नाव पार उर में आलोकित शत विचार इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

11 / 50

निम्न प्रश्न में चार विकल्पों में से उस सही विकल्प का चयन करें जो बताता है कि जहाँ किसी हानि के कारण शोक भाव उपस्थित होता है, वहाँ किस रस की उपस्थिति रहती है?

12 / 50

वाणी और अंगों के अभिनय द्वारा जिनसे प्रकट हों, वे हैं?

13 / 50

मुझे फूल मत मारो, मैं अबला वाला वियोगिनी, कुछ तो दया विचारो इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

14 / 50

नेकु कही बैननि अनेक कही नैननि सौं । रही सही सोऊ कहि दीनों हिंचकीन सौं । इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

15 / 50

विशेष रूप से जो भावों को प्रकट करते हैं. उन्हें कहते हैं?

16 / 50

जहँ तहँ मज्जा माँस रुचिर लखि परत बगारे जित-जित छिटके हाड़, सेत कहुँ, । कहुँ रतनारे।’ इस अवतरण में हैं?

17 / 50

निम्न पंक्तियों में कौन-सा रस है? आये होंगे यदि भरत कुमति वश वन में, तो मैंने यह संकल्प किया है मन में उनको इस शर का लक्ष्य चुनूंगा क्षण में, प्रतिशोध आपका भी न सुनूंगा रण में।

18 / 50

रसखान के काव्य में किस रस का वर्णन नहीं मिलता है?

19 / 50

जब विभाव, अनुभाव तथा संचारी भाव के संयोग से रति नामक स्थायी भाव उत्पन्न होता है, तो वहाँ पर होता है?

20 / 50

जसोदा हरि पालनें झुलावै । हलरावै वुलरावे, मल्हावे जोइ सोई, कछु गावै इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

21 / 50

रौद्र रस का स्थायी भाव है?

22 / 50

आलम्बन एवं उद्दीपन हैं?

23 / 50

विभाव, अनुभाव तथा संचारी भाव के संयोग से उत्पत्ति होती है?

24 / 50

स्थायी भाव के प्रकारों की संख्या सामान्यतः कितनी मानी गई है?

25 / 50

हास्य रस का स्थायी भाव है?

26 / 50

निर्वेद’ स्थायी भाव है?

27 / 50

गुरु गोविंद तो एक है, दूजा यह आकार आपा मेटि जीवति मरे तो पावे करतार उपर्युक्त दोहे में किस रस का परिपाक हुआ है?

28 / 50

संचारी भाव का एक और नाम है?

29 / 50

अँखियाँ हरि दरसन की भूखी । कैसे रहे रूप रस राँची, ए बतियाँ सुनि रूखीं। उपर्युक्त पंक्तियों में कौन-सा रस है?

30 / 50

भरतमुनि के अनुसार रसों की संख्या है?

31 / 50

भाव शान्ति, भाव संधि और भाव सबलता का सम्बन्ध भाव के किस भेद से है?

32 / 50

पुष्प वाटिका में राम और जानकी घूम रहे हैं। जानकी के साथ उनकी सखियाँ हैं और राम के साथ लक्ष्मण। यहाँ जानकी के हृदय में जाग्रत ‘रतिभाव’ के ‘आलम्बन विभाव’ कौन हैं?

33 / 50

किस रस का स्थायी भाव निर्वेद है?

34 / 50

फाड़ि नखन शव आंतड़िन रुधिर मवाद निकारि । लेपति अपने मुखनि पै, हरसि प्रेतगन नारि ॥ उपर्युक्त पंक्तियों में कौन- सा स्थायी भाव है?

35 / 50

हिन्दी साहित्य का नौवां रस कौन-सा है?

36 / 50

रस का सम्बन्ध किस धातु से माना जाता है?

37 / 50

पुष्पवाटिका में जानकी का उद्दीपन विभाव’ कौन है?

38 / 50

आचार्य भरत ने किस रस को नाट्य प्रयोग में स्वीकार नहीं किया है?

39 / 50

विस्मय स्थायी भाव किस रस में होता है?

40 / 50

केशव कहि न जाइ का कहिये देखत तव रचना विचित्र अति समुझि मनहिं मन रहिये।” में है?

41 / 50

‘चमक उठी सन सत्तावन में वो तलवार पुरानी थी। में रस का भेद बताइए?

42 / 50

‘वीरों का कैसा हो बसन्त’ में किस रस की सृष्टि हुई है?

43 / 50

करुण रस का स्थायी भाव होगा?

44 / 50

प्रिय पति वह मेरा प्राण प्यारा कहाँ है ? दुःख जल निधि डूबी का सहारा कहाँ है ?इन पंक्तियों में कौन-सा स्थायी भाव है?

45 / 50

वीर रस का स्थायी भाव है?

46 / 50

‘वेपथु’ कैसा अनुभाव है?

47 / 50

रस की संख्या 8 किसने मानी है?

48 / 50

किसी व्यक्ति के द्वारा क्रोध में किए गए अपमान आदि के उत्पन्न भाव होने की दशा में कौन-सा रस होता है?

49 / 50

‘ट’, ‘ठ’, ‘ड’, ‘द’ वर्णों के प्रयोग का सम्बन्ध काव्य के किस से गुण है?

50 / 50

किस रस का संचारी भाव उग्रता, गर्व, हर्ष आदि हैं?

Your score is

The average score is 48%

0%

रस 2

1 / 51

निम्न में से किस रस का स्थायी भाव शोक है?

2 / 51

निम्न पंक्तियों में कौन-सा रस है? बालधी विशाल विकराल ज्वाल जाल मानी। लंक लीलिबे को काल रसना पसारी है।

3 / 51

हिन्दी साहित्य के किस भाव को व्यभिचारी भाव भी कहा जाता है?

4 / 51

निम्न पंक्तियों में कौन-सा रस है- बतरस लालच लाल की मुरली धरी लुकाय?

5 / 51

उस कल मारे क्रोध के तन काँपने उसका लगा मानो हवा के जोर से सोता हुआ सागर जगा। प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा रस है?

6 / 51

आधा पात बबूल का तामें तनिक पिसान। लाल जी करने लगे, छठे छमासे दान ॥ उपर्युक्त दोहे में कौन-सा रस है?

7 / 51

‘उत्साह’ स्थायीभाव से किस रस की निष्पत्ति होती है?

8 / 51

प्रकृति के यौवन का श्रृंगार करेंगे कभी न बासी फूल; मिलेंगे वे जाकर अति शीघ्र इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

9 / 51

शोभित कर नवनीत लिए घुटरुनि चलन रेनु तन मण्डित मुख दधि लेप किए। इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

10 / 51

दुःख ही जीवन की कथा रही, क्या कहूँ आज जो नहीं कही। उपर्युक्त पंक्ति में कौन-सा रस है?

11 / 51

राम के रूप निहारित जानकी कंगन के नग की परछाही यातो सबै सुधि भूलि गई कर टेकि रही पल टारति नाहीं । उपर्युक्त काव्य खंड में किस रस को प्रयुक्त किया गया है?

12 / 51

वीभत्स रस का स्थायी भाव है?

13 / 51

सिर पर बैठो काग आँखि दोउ खात- निकारत खींचत जीभहिं स्थार अतिहि आनन्द उर धारत । इन पंक्तियों में कौन-सा रस निहित है?

14 / 51

“राग है कि, रूप है कि रस है कि जस है कि तन है कि, मन है कि प्राण है कि, प्यारी है। उपर्युक्त पंक्तियों में रस है?

15 / 51

विभाव, अनुभाव और व्यभिचारी भावों के संयोग से रस की निष्पत्ति होती है। किसका कथन है?

16 / 51

समरस थे जड़ या चेतन सुन्दर साकार बना था। चेतनता एक विलसती आनन्द अखंड घना था ।” इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

17 / 51

किस रस को ‘रसराज’ कहा जाता है?

18 / 51

किस रस का स्थायी भाव रति है?

19 / 51

वीभत्स रस का स्थायी भाव है?

20 / 51

संचारी भावों की संख्या है?

21 / 51

मन रे तन कागद का पुतला लागें बूँद बिनसि जाए छिन में गरब करे क्या इतना । इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

22 / 51

तपस्वी! क्यों इतने हो क्लान्त, वेदना का यह कैसा वेग ? आह! तुम कितने अधिक हताश बताओ यह कैसा उद्वेग ? इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

23 / 51

निम्नलिखित पंक्तियों में कौन-सा रस है? ‘एक ओर अजगरहि लखि एक ओर मृगराय । विकल बटोही बीच ही, परयों मूरछा खाय ।’

24 / 51

तूं तूं करता हूँ भया, मुझमें रही न हूँ। बारी फेरी बलि गई, जित देखाँ तित हूँ। इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

25 / 51

घिर रहे थे घुंघराले बाल अंश अवलम्बित मुख के पास नील घन शावक से सुकुमार, सुधा भरने को विधु के पास। इन पंक्तियों में कौन-सा रस निहित है?

26 / 51

निम्न पंक्ति में कौन-सा रस है?’मैं नीर भरी दुःख की बदली ।’

27 / 51

‘नभ में झपटत बाज लखि, भूल्यो सकल प्रपंच कंपति तनु व्याकुल नयन, शावक ‘हिल्यों ने रंच ।’ इस उद्धरण में कौन-सा रस है?

28 / 51

‘शोक’ किस रस का स्थायी भाव है?

29 / 51

भरत के ‘रससूत्र’ में निम्नलिखित में से किसका उल्लेख नहीं है?

30 / 51

किस रस का संचारी उद्दीपन विभाव बादल की घटाएँ, कोयल का बोलना, बसन्त ऋतु आदि होते हैं?

31 / 51

रसोत्पत्ति में आश्रय की चेष्टाएँ क्या कही जाती हैं?

32 / 51

मैं सत्य कहता हूँ सखे । सुकुमार मत जानो मुझे यमराज से भी युद्ध में प्रस्तुत सदा जानो मुझे इन पंक्तियों में कौन-सा रस निहित है?

33 / 51

जौ तुम्हार अनुशासन पाव कन्दुक इव ब्रह्माण्ड उठाव काँचो घट डारौं फोरी | रोकों मेरु मुलक जिमि तोरी। उपर्युक्त पंक्तियों में कौन-सा रस है?

34 / 51

विंध्य के वासी उदासी तपोव्रत धारी महाबिनु नारि दुखारें उपर्युक्त पंक्ति में कौन-सा रस है?

35 / 51

माधुर्य गुण का किस रस में प्रयोग होता है?

36 / 51

शृंगार रस के भेद हैं?

37 / 51

निम्न प्रश्न में चार विकल्पों में से उस सही विकल्प का चयन करें जो बताता है कि संयोग और वियोग किस रस के रूप हैं?

38 / 51

बिनु गोपाल बैरनि भई कुंजैं। इस पंक्ति में कौन-सा रस निहित है?

39 / 51

अनुभाव के दो भेद होते हैं?

40 / 51

‘विस्मय’ स्थायी भाव किस रस में होता है?

41 / 51

किलक अरे मैं नेह निहारों इन दाँतों पर मोती वारूँ। इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

42 / 51

अब लौ नसानी अब न नसैहों में कौन-सा रस है?

43 / 51

ज्यों ज्यों पटु झटकति, हठति, हँसति नचावति नैन त्यों त्यों निपट उदारहु फगुवा देत वनै न पंक्ति में कौन-सा अनुभाव है?

44 / 51

मेरी भव बाधा हरो, राधा नागरि सोई। जा तन की झाँई परे स्याम हरित दुति होई ॥ उपर्युक्त पंक्तियों में कौन-सा रस है?

45 / 51

शांत रस का स्थायी भाव है?

46 / 51

अमर्ष क्या है?

47 / 51

जब पहुँची चपला बीच धार, छिप गया चाँदनी का कगार ! दो बाहों के दूरस्थ तीर धारा का कृश कोमल शरीर आलिंगन करने को अधीर! इस पंक्तियों में कौन-सा रस निहित है?

48 / 51

रण बीच चौकड़ी भर-भर कर, चेतक बन गया निराला था। राणा प्रताप के घोड़े से, पड़ गया हवा का पाला था। उपर्युक्त में किस रस का प्रयोग हुआ है?

49 / 51

“देखि सुदामा की दीन दशा, करुणा करि के करुणानिधि रोये पानी परात से हाथ छुए नहिं, नयन के अंशुए पग धोये।” उपर्युक्त में कौन-सा रस है?

50 / 51

जो भाव मन में केवल अल्पकाल तक संचरण करके चले जाते हैं, उन्हें कहा जाता है?

51 / 51

भरतमुनि के रससूत्र में निम्नलिखित में से किसका उल्लेख नहीं है?

Your score is

The average score is 0%

0%